बीमार पिता और परिवार की हालत देख 5 साल की बेटी ने मोदी को लिखा ये पत्र

लगभग एक साल पहले एक सड़क हादसे में गंभीर रूप से घायल हुआ एक व्यक्ति कोमा में जा चुका है। बता दें कि परिवार का वह इकलौता कमाऊ शख्स था, जिसके बाद अब परिवार के सामने आर्थिक संकट आ खड़ा हुआ है। इस दुःख को बयाँ करने के लिए परिवार की नन्हीं सी बेटी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र को एक भावुक चिट्ठी लिखी है। मासूम ने अपनी इस चिट्ठी में पीएम मोदी से अपने पिता के बेहतर इलाज और परिवार के स्थिति को सुधारने की गुहार लगाई है।

इस तरह हुआ हादसा
यूपी के सहारनपुर जिले के गंगोह ब्लॉक में गांव अलीपुरा निवासी अरुण फोटोग्राफर था। लगभग एक साल पहले वह बाइक से घर लौट रहा था। इस दौरान ही एक ट्रैक्टर-ट्रॉली ने उसकी बाइक में टक्कर मार दी और उसे गंभीर चोटें आई। मगर दुःख अभी बाकि था और इलाज के दौरान वह वह कोमा में चला गया। बता दें कि परिवार में वह ही इकलौता कमाने वाला शख्स था।




पिता और भाई के कारण होता है परिवार का भरण-पोषण
अरुण के घायल होने से 15 दिन पूर्व ही उसकी पत्नी ने एक बेटे को जन्म दिया था, अब उसकी बेटी ईशु 5 साल की है। अरुण के बाद उसके पिता और भाई मजदूरी कर परिवार का पालन-पोषण करते हैं। अरुण की एक बहन है जिसकी अभी शादी नहीं हुई है।
साल भर इलाज के बाद भी नहीं सुधरी हालत
अरुण की पत्नी ने अरुणा का जगाधरी, हरियाणा में उसका इलाज कराया, मगर गंभीर हालत को देखते हुए उसे वहां से पीजीआई चंडीगढ रेफर कर दिया गया। इस दौरान एक साल तक चले उपचार के बाद भी उसकी हालत में सुधार नहीं हुआ और सारी जमा पूंजी भी खत्म हो गई। कुछ समय बाद थक-हारकर अरुण के परिजन उसे वापस घर ले आए।
पत्र में लिखी परिवार की दयनीय स्थिति
बता दें कि अरुण की बेटी ईशु ने अपने पिता की हालत और मां की बेबसी देख पीएम नरेंद्र मोदी को एक पत्र लिख अपना दुख जाहिर किया है। अपने इस पत्र में उसने पीएम से अपने पिता के बेहतर इलाज कराने का आग्रह किया है।



मासूम ने एक साल से कोमा में पड़े पिता के लिए मदद की गुहार लगाई है और बताया है कि पिता के इलाज में सारे पैसे खर्च हो चुके हैं। फ़िलहाल परिवार की आर्थिक स्थिति इतनी खराब हो चुकी है कि पिता का इलाज कराना तो दूर घर में खाने के लिए भी कुछ नहीं है।


Related posts

Leave a Comment