जानिए अरविन्द केजरीवाल की बेटी हर्षिता के बारे में कुछ ऐसी जानकारी जो आपको मालूम नहीं होगी!

arvind-kejriwal

अरविन्द केजरीवाल की बेटी हर्षिता के बारे में कुछ ऐसी जानकारी जो आपको मालूम नहीं होगी! दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल वैसे तो अपनी बयानबाजी के कारण हमेशा मीडिया की सुर्खियों में बने रहते है। आए दिन वे किसी न किसी के खिलाफ कोई नई मुहिम चलाते नज़र आते है लेकिन इन दिनों वे चुनावी कार्यक्रम में व्यस्त है। गौरतलब है कि पांच राज्यों में चुनाव होने वाले है ऐसे में केजरीवाल कमर कसकर इस चुनाव की तैयारी में लगे हुए है।

इस चुनाव की तैयारी में उनके साथ पार्टी के लोग और कई सारे सहयोगी भी है। वे आए दिन कही न कही रैली संबोधित करते रहते है। इन दिनों चुनावों में उनकी मदद उनकी बेटी और उनकी पत्नी भी कर रही है। अरविन्द केजरीवाल की बेटी के बारे में आप पहले भी पढ़ चुके हैं। केजरीवाल की बेटी का नाम हर्षिता केजरीवाल है और इन दिनों वो भी अपने पापा की मदद करती नज़र आ रही है।

हर्षिता का नाम पहले भी सुर्खियों में आ चुका है। देश में इंजीनियरिंग कॉलेज में एडमिशन के लिए होने वाली सबसे मुश्किल एग्जाम आईआईटी को हर्षिता ने साल 2014 में क्लियर किया था। हर्षिता ने बोर्ड एग्जाम में 96 पर्सेन्ट स्कोर किया था और आईआईटी एग्जाम में भी उनकी 3322 रैंक आई थी।




हर्षिता इन दिनों अपने पिता के साथ चुनावी प्रचार कर रही हैं। केजरीवाल का पूरा परिवार पंजाब में चुनाव प्रचार कर रहा है। यहां उनकी बेटी हर्षिता भी सड़कों पर हाथ जोड़कर लोगों से वोट देने की अपील करती नज़र आई। अमृतसर के साउथ हलके में केजरीवाल के बेटे पुलकित और बेटी ने पार्टी कैंडिडेट डॉ. इंदरबीर निज्जर के लिए चुनाव प्रचार किया।

हर्षिता पहले भी कई बार आप के चुनावी कैम्पेन में नजर आ चुकी हैं। काफी समय बाद वह फिर से सड़क पर लोगों से वोट मांगती नजर आईं। हर्षिता आईआईटी दिल्ली में कैमिकल इंजीनियरिंग से ग्रेजुएशन कर रही हैं। डीपीएस नोएडा से स्कूल की पढ़ाई के बाद हर्षिता ने 2014 में आईआईटी दिल्ली में ऐडमिशन लिया था।

इस इलेक्शन कैंपेन में केजरीवाल के साथ उनकी पत्नी सुनीता भी हिस्सा ले रही है। केजरीवाल की पत्नी सुनीता ने दीनानगर में चुनाव प्रचार में हिस्सा लिया। शनिवार को वह पार्टी के रोड शो में उनके साथ गाड़ी में थी। गांव ठट्ठी फरीदपुर में दोनों को बच्चों ने अपनी पाकेट मनी सेविंग की गुल्लकें भेंट कीं।

हालकी काफी लोगों का मानना है जो केजरीवाल मोदी को उन की माँ का आशीर्वाद लेने को एक राजनीति बताते है वो जब खुद अपने परिवार को राजनीति के लिए इस्तमाल करते है तब उन्हे शर्म नहीं आती |




Related posts

Leave a Comment