चुनाव 2017: अखिलेश यादव सपा अध्यक्ष, चुनाव चिह्न साइकिल भी मिला

अखिलेश यादव को मिली साइकिल

लखनऊ (जेएनएन)। चुनाव आयोग के फैसले में अखिलेश यादव को साइकिल मिल गई है। चुनाव आयोग का फैसला आने का संकेत होते ही अखिलेश की नेम प्लेट सपा अध्यक्ष के रूप में लग गई। इससे पहले समाजवादी कुनबे की लड़ाई अब सड़क पर आ चुकी थी। चुनाव आने से करी दो माह पहले अखिलेश और शिवपाल समर्थकों के बीच का टकराव आज सपा मुखिया मुलायम सिंह यादव के विरोध में नारेबाजी तक पहुंच गया। आज सपा प्रदेश मुख्यालय पर दोनों गुट पूरी तरह बंटे दिखे। दोनों गुटों में एक-दूसरे के प्रति जबरदस्त आक्रोश दिखा।




इसी बीच आज दिन में पार्टी के मुखिया मुलायम सिंह यादव पार्टी ऑफिस पहुंचे थे। वह कार्यकर्ताओं को संबोधित कर रहे थे, इसी बीच कार्यालय के बाहर अखिलेश यादव के समर्थक हंगामा करने लगे। मुलायम सिंह यादव के खिलाफ नारेबाजी होने लगी। इसके बाद मुलायम सिंह यादव के साथ बैठक में मौजूद कार्यकर्ता भी बाहर आ गए। फिर कार्यालय के बाहर अखिलेश तथा मुलायम के समर्थक भिडऩे लगे। अखिलेश के समर्थकों से सपा प्रमुख के समर्थकों की काफी तेज झड़प हो गई।




हंगामा करने वालों को वहां से हटाने के लिए नरेश उत्तम को पार्टी कार्यालय से बाहर आना पड़ा। नरेश उत्तम ने अपनी गाड़ी में बैठाकर किन्नर सोनम यादव को रवाना किया। नरेश उत्तम ने पार्टी ऑफिस से बहार निकल कर के कार्यकर्ताओं को काफी समझाया। इसके बाद पार्टी के मुखिया मुलायम सिंह यादव तथा शिवपाल सिंह यादव भी अपने आवास रवाना हो गए। वहां पर किसी भी प्रकार की अनहोनी से निपटने के लिए कार्यालय पर पुलिस की तैनाती की गयी है।




सपा अध्यक्ष अखिलेश

सपा मुख्यालय में मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को समाजवादी पार्टी का राष्ट्रीय अध्यक्ष घोषित करती नेम प्लेट लग गई। बस, उसे मुलायम सिंह की नेम प्लेट के नीचे लगाया गया है। यानी सपा में दो राष्ट्रीय अध्यक्ष हो गए। कार्यकर्ताओं में कौतूहल यह कि कौन रहेगा और कौन हटेगा। एक जनवरी को जनेश्वर मिश्र पार्क में एक अधिवेशन में प्रो.राम गोपाल यादव ने अखिलेश यादव को सपा का राष्ट्रीय अध्यक्ष चुने जाने का एलान किया। इस निर्णय के बाद समाजवादी पार्टी पर अधिकार की लड़ाई तेज हुई थी। कुछ कार्यकर्ताओं ने पहले कार्यालय में लगी शिवपाल यादव की नेम प्लेट तोड़कर फेंक दी थी, कई कार्यालयों में ताला लगा दिया गया था। बाद में शिवपाल की नेम प्लेट फिर लग गई थी। अब सोमवार को अखिलेश यादव की नेम प्लेट भी लगाई गई, जिसमें उन्हें सपा का राष्ट्रीय अध्यक्ष लिखा गया है।




काले रंग में अखिलेश की नेमप्लेट

पार्टी कार्यालय में लगी दोनों नेम प्लेटों के रंग को लेकर चर्चाएं गर्म है। मुलायम सिंह यादव की नेम प्लेट जहां समाजवादी पार्टी के झंडे (लाल व हरे) के रंग में है, वहीं अखिलेश यादव की नेम प्लेट का रंग काला है। उसके नीचे राष्ट्रीय अध्यक्ष भी लिखा गया है। इससे पहले शनिवार को मुख्यमंत्री अखिलेश यादव द्वारा समाजवादी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष नियुक्त किए गए नरेश उत्तम की नेम प्लेट कार्यालय में लगाई गई थी। सपा के राज्य मुख्यालय के पुराने भवन में तीन हिस्से हैं। एक मुलायम सिंह के कार्यालय के रूप में इस्तेमाल होता है। दूसरा प्रदेश अध्यक्ष के लिए है। तीसरा हिस्सा कुछ सालों से प्रदेश महासचिव इस्तेमाल करते रहे हैं जबकि कई बरस पहले इसे रामशरण दास बतौर प्रदेश अध्यक्ष इस्तेमाल करते थे। एक जनवरी को अखिलेश यादव द्वारा नियुक्त प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम की नेम प्लेट इसी कमरे में लगाई गई है।



Related posts

Leave a Comment