Ringing Bells मामला: MRP को दो गुना कर फंसाते थे लोगों को

Ringing bell.

रिंगिंग बेल्स कंपनी के एमडी की गिरफ्तारी के बाद धोखाधड़ी की परतें खुलने लगी हैं। पुलिस जांच में यह बात सामने आई है कि 251 रुपये के मोबाइल देने के नाम पर पहले कंपनी ने अपना प्रोमोशन किया।



इसके बाद लोग इस कंपनी के मोबाइल खरीदने लगे। फिर कंपनी ने धोखाधड़ी शुरू कर दी और मोबाइल के एमआरपी मिटाकर दो गुना एमआरपी पर बेचने लगी। 1499 रुपये के मोबाइल पर 2999 रुपये का टैग लगाकर बेचा जाता था। यानि एमआरपी को दोगुना कर थ्री जी, फोर जी के नाम पर लोगों को फंसाया जाता था।

वहीं डीलर को भी अधिक मुनाफे दिलाने का आश्वासन देता था। पुलिस की टीम पूरे मामले की जांच कर रही है। वहीं शुक्रवार को रिंगिंग बेल्स कंपनी के एमडी मोहित गोयल को पुलिस ने एसीजेएम कोर्ट में पेश किया। कोर्ट ने सुनवाई के बाद उसे न्यायिक हिरासत में भेज दिया। इस मामले में कंपनी के जीएम अनमोल गोयल, धारणा गर्ग, अशोक चड्ढा व सुमित कुमार भी आरोपी हैं। सिहानी गेट पुलिस इन आरोपियों की तलाश में जुटी हुई है। गाजियाबाद निवासी अक्षय मल्होत्रा की शिकायत पर गुरुवार को सिहानी गेट थाने में कंपनी के इन पांच अधिकारियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया था।

इसके बाद पुलिस ने एमडी मोहित गोयल को गिरफ्तार कर लिया था। क्षेत्राधिकारी द्वितीय मनीष मिश्र का कहना है कि इस पूरे मामले की जांच की जा रही है और इसमें शामिल अन्य आरोपियों की भी तलाश की जा रही है। आरोपियों की जल्द ही गिरफ्तारी होगी।

तैयार कर रहा था डिस्ट्रीब्यूटर्स की फौज
दरअसल इस कंपनी का मुख्य उदेश्य कम समय में अधिक से अधिक मुनाफा कमाना था। इसके लिए वह कम कीमतों के मोबाइल के रेट बढ़ाकर डिस्ट्रीब्यूटर्स को देता था। अधिक मुनाफा का लालच देकर वह डिस्ट्रीब्यूटर्स की फौज खड़ा कर रहा था। अभी तक 110 से अधिक डिस्ट्रीब्यूटर्स भी बना लिए थे।



चीन जाकर मोबाइल लाने की थी योजना
कंपनी के खिलाफ लगातार शिकायतें व मुकदमा दर्ज होने के बाद मोहित गोयल अपने साथियों के साथ चान जाने की तैयारी में था। पुलिस का कहना है कि वह चीन जाकर सस्ते मोबाइल लाता और अपने डिस्ट्रीब्यूटर्स को देता। कई डिस्ट्रीब्यूटरों से पैसे लेने के बाद भी वह डिमांड पूरा नहीं कर पाया था और खराब मोबाइल की शिकायतें भी बहुत आ रहा था। इसके लिए उसने कई विशेषज्ञों से भी संपर्क में था।

गाजियाबाद में नहीं मिला 251 रुपये का मोबाइल
रिंगिंग बेल्स कंपनी की फ्रीडम 251 मोबाइल गाजियाबाद में किसी को नहीं मिला।
कंपनी के डिस्ट्रीब्यूटर देवदत्त मल्होत्रा ने बताया कि कंपनी ने फ्रीडम 251 को लॉन्च करने के बाद ऑनलाइन बुकिंग कराई थी। गाजियाबाद से भी हजारों की संख्या में लोगों ने बुकिंग की थी। कंपनी की तरफ से एक भी फ्रीडम 251 की डिलीवरी नहीं हुई।

कई नेताओं के नाम का लिया फायदा
कंपनी के एमडी मोहित गोयल ने कंपनी के प्रोमोशन के लिए कई बउ़े नेताओं के नाम का सहारा लिया। कई नेताओं के नाम के फोटो सोशल साइट्स पर डाले तो कई अखबारों में विज्ञापन भी दिया। भाजपा नेता मुरली मनोहर जोशी, रक्षा मंत्री मनोहर पर्रीकर सहित कई नेताओं के नाम लेकर इसने फायदा उठाने का प्रयास किया।


Related posts

Leave a Comment