शूटआउट एट धनबादः खूनी खेल में गईं 4 जानें, पूर्व डिप्टी मेयर को मारीं 17 गोलियां

ex deputy mayor three others killed in shootout dhanbad family dispute

झारखंड के धनबाद में गैंगवार में पूर्व डिप्टी मेयर नीरज सिंह समेत चार लोगों की बेरहमी से हत्या कर दी गई. बदमाशों ने तकरीबन 50 राउंड गोलियां चलाईं थी. बताया जा रहा है कि नीरज सिंह को 17 गोलियां मारी गईं थीं. इस खूनी खेल को धनबाद का सबसे बड़ा गैंगवार माना जा रहा है.

पूर्व डिप्टी मेयर नीरज सिंह की अपनी राजनीतिक पहचान थी. नीरज सिंह झरिया से भाजपा विधायक संजीव सिंह के चेचरे भाई थे. वह धनबाद विधानसभा से चुनाव भी लड़ चुके हैं. सिंह मैंशन में तनाव के कारण झरिया विधायक संजीव सिंह एवं नीरज सिंह के बीच राजनीतिक खींचतान भी चल रही थी. इसी वजह से दोनों भाइयों में हमेशा टकराव बना रहता था.



संजीव सिंह के सहयोगी की गोली मारकर हत्या
हाल ही में संजीव सिंह के एक सहयोगी की दिनदहाड़े गोली मारकर हत्या कर दी गई थी. इस वारदात में पूर्व डिप्टी मेयर नीरज सिंह का नाम सामने आया था. नीरज सिंह के परिजनों की मानें तो घटना के बाद से ही परिवार में खूनी संघर्ष की आशंका बढ़ गई थी. मंगलवार को हुई इस वारदात के बाद नीरज सिंह के परिजन इसे बदला करार दे रहे हैं.ex deputy mayor three others killed in shootout dhanbad family dispute

तनावपूर्ण बना हुआ है माहौल
घटना शहर के सरायढेला स्थित स्टील गेट के समीप घटी. घटना को लेकर स्टील गेट से लेकर सेंट्रल अस्पताल तक माहौल तनावपूर्ण बना हुआ है. सेंट्रल अस्पताल में नीरज सिंह के समर्थकों ने जमकर हंगामा किया. आक्रोशित नीरज समर्थकों ने एसपी सिटी अंशुमन कुमार से भी धक्का-मुक्की की. घटना के बाद संजीव सिंह के घर की सुरक्षा बढ़ा दी गई है.

सीआईएसएफ की एक टुकड़ी तैनात
मामले को बढ़ता देख सीआईएसएफ की एक टुकड़ी को धनबाद में तैनात किया गया है. वहीं घटना के तुरंत बाद बिहार के डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव ने ट्वीट कर झारखण्ड सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि ‘धनबाद में कर्फ्यू जैसे हालात हैं, पूर्व डिप्टी मेयर की दिनदहाड़े हत्या कर दी जाती है. राज्य की भाजपा सरकार अपराधियों को संरक्षण दे रही है.’

हमलावरों ने स्पीड ब्रेकर का उठाया फायदा
बताते चलें कि स्कार्पियो सवार बदमाशों ने हमले से पहले रेकी की थी. नीरज सिंह के घर से पहले 15 ब्रेकर हैं, जिसका अपराधियों ने फायदा उठाया. नीरज की गाड़ी की रफ्तार कम होते ही अपराधियों ने एके-47 से उनकी कार पर अंधाधुंध फायरिंग कर दी. इस हमले में नीरज सिंह के बॉडीगार्ड, ड्राइवर और साथी अशोक यादव की मौके पर ही मौत हो गई. वहीं अस्पताल में इलाज के दौरान नीरज सिंह ने भी दम तोड़ दिया. पुलिस हमलावरों की तलाश में जगह-जगह दबिश दे रही है.


Related posts

Leave a Comment