ताजमहल को पाकिस्तान शिफ़्ट करेगी योगी सरकार, अमेरिका से मंगाईं बड़ी-बड़ी मशीनें

लखनऊ. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ एक के बाद एक हैरतअंगेज़ काम करते जा रहे हैं। विश्व धरोहर ताजमहल को पर्यटन-स्थलों की सूची से हटाने के बाद योगी जी अब उसे भौतिक रूप से भी हटाने वाले हैं। जी हाँ! मुख्यमंत्री योगी ने एलान किया है कि “वो ताजमहल को कुछ महीनों के अंदर पाकिस्तान भेज देंगे। फिर जिसे वो देखना हो, वहीं जाकर देखे!”



योगी जी का कहना है कि “जब 70 साल पहले मुसलमानों के लिये अलग देश बन गया था तो फिर मुसलमानों की इमारतें अभी तक यहाँ क्या कर रही हैं?” -यह कहकर वो केरल के लिये रवाना हो गये। उनके जाने के बाद माइक यूपी की पर्यटन मंत्री रीता बहुगुणा जोशी (प्राचीन कांग्रेसी नेता) ने संभाल लिया। रीता जी ने कहा कि “पहले हम इमारतों को शिफ़्ट करेंगे, उसके बाद लोगों को भी भेजा जायेगा।”

“फिर ताजमहल की जगह पे क्या बनाएगी सरकार?” -इस सवाल पर रीता जी ने कहा, “ताजमहल को हटाकर वहाँ एक गौशाला बनाई जायेगी और योगी जी ख़ुद पर्यटकों को उसका भ्रमण कराएंगे। जो विदेशी प्रधानमंत्री और राष्ट्रपति पहले ताजमहल देखने आते थे, वे अब गौशाला देखेंगे।”



इसके बाद रीता जी विदेशी टूरिस्टों को चेतावनी देते हुए बोलीं कि “जो भी विदेशी पर्यटक ताजमहल देखने जायेगा, उसका पासपोर्ट ज़ब्त कर लिया जायेगा।” “दुनिया के सातवें अजूबे को इस तरह हटाना क्या ठीक होगा?” इस पर रीता जी ने हँसते हुए कहा, “सातवाँ अजूबा ताजमहल नहीं, योगी जी के बाल हैं। समझे! हमारे योगी जी के बाल बढ़ते क्यों नहीं हैं -अगर देखना है तो ये देखो!”

उधर, योगी जी के ‘ताजमहल शिफ़्टिंग’ के इस एलान से पाकिस्तान में जश्न का माहौल है। वहाँ पब्लिक यह सोच-सोचकर ख़ुश हो रही है कि अब अपने यहाँ भी देखने लायक कोई चीज़ हो जायेगी और इसी बहाने थोड़ी-बहुत कमाई का भी जुगाड़ हो जायेगा।


Related posts

Leave a Comment