अभी-अभीः मोदी सरकार ने 2 करोड़ 33 लाख राशन कार्ड को कर दिया निरस्त

नई दिल्लीः देश में काला बाजार हमेशा से ही तूल पकड़े हुए है आए दिन इसे लेकर भारत को नुकसान उठाना पड़ रहा है। कुछ ऐसा ही मामला राशन कार्ड को लेकर तूल पकड़ा हुआ है। राशन के द्वारा फर्जी तरीके से सरकार को नुकसान पहुंचाया जा रहा है। और इस नुकसान को लेकर मोदी सरकार ने इन राशन कार्ड धारकों के लिए एक बड़ा फैंसला लिया है।




साल फर्जी राशनकार्ड के जरिए सरकार को करोड़ों का चूना लगाया जा रहा है। और ऐसा करने पर सरकार को काफी नुकसान उठाना पड़ रहा है। दरअसल सरकार इन फर्जी राशन कार्ड पर करोड़ों रूपए कि सुविधाएं देनी पड़ती हैं। और इसी सुविधाओं का ये फर्जी राशन कार्ड भी धोखे से फायदा उठा कर सरकार को नुकसान पहुंचा रहे हैं।




हालांकि मोदी सरकार ने सत्ता में आने के बाद से करीब 2 करोड़ 33 लाख फर्जी राशन कार्ड को रद्द कर दिया है। जिससे देश के हो रहे अवैध खर्चे में भारी बचत हुई है। हैरानी वाली बात तो यह है की 66 लाख 33 हजार 961 अवैध फर्जी राशन कार्ड जो किसी अन्य राज्य कि तुलना में सबसे अधिक है यह सब ममता के राज्य पश्चिम बंगाल में पकड़े गए हैं। और यह राशन कार्ड किसी भारतीयों के नहीं बल्कि भारत में घुस आए बांग्लादेशियों के हैं।

जानकारी देते हुए खाद्य मंत्री राम विलास पासवान ने बताया की इसमें सबसे ज्यादा फर्जी राशन कार्ड पश्चिम बंगाल में पकड़े गए हैं। और इन फर्जी राशन कार्ड की संख्या 66 लाख 13 हजार 961 है, और कर्नाटक में इनकी संख्या 65 लाख तथा मध्यप्रदेश में 1,09,436 , उत्तर प्रदेश में 7,03,159 हैं। इस प्रकार से पूरे राज्य में मिलाकर 2 करोड़ 33 लाख फर्जी राशन कार्ड को रद्द कर दिया गया है।

loading…


Related posts

Leave a Comment