करवा चौथ वाले दिन महिलाऐं भूलकर भी ना करे ये 5 काम, वरना फ़ैल हो जाएगा आपका व्रत

हर साल करवा चौथ वाले दिन दुनियां भर की महिलाएं अपने पति की लम्बी उम्र के लिए व्रत रखती हैं. इस व्रत में महिलाएं दिन भर उपवास करती हैं और रात्रि में चन्द्रमा दिखने पर छलनी से उनके दर्शन करती हैं. इसके बाद उसी छलनी से पति को देखा जाता हैं. जिसके बाद पति महिला को अपने हाथो से पानी और अन्न खिलाकर उसका व्रत तोड़ता हैं.



आज हम आपको करवाचौथ से सम्बंधित बहुत ही काम की बाते बताएंगे. जो महिलाएं करवाचौथ का व्रत रख रही हैं उन्हें भूल से भी यह पांच काम नहीं करना चाहिए वरना करवा चौथ का व्रत सफल नहीं होगा और आपकी पूजा अर्चना व्यर्थ जाएगी. वैसे तो ये गलतियाँ महिलाएं जान बुझ कर नहीं करती हैं बल्कि उनसे अनजाने में हो जाती हैं. लेकिन फिर भी आप इस दिन थोड़ी सतर्क रहेगी और ये गलतियाँ ना करेगी तो आपके लिए अच्छा रहेगा.

करवा चौथ के दिन भूलकर भी ना करे ये 5 काम


1. करवाचौथ का व्रत रखने वाली महिलाओं को इस दिन केवल लाल रंग के कपड़े ही पहनना चाहिए. आप चाहे तो इस दिन लाल रंग की साड़ी या लहंगा पहन सकती हैं. आपको बता दे कि हिन्दू धर्म के अनुसार करवाचौथ वाले दिन लाल रंग पहनना को शुभ माना जाता हैं. यह लाल रंग सुहागन औरत का प्रतीक होता हैं. एक बात का और ध्यान रखे कि इस दिन नीले, भूरे या काले रंग के कपड़े भूल कर भी नहीं पहने वरना आपको करवाचौथ के व्रत का लाभ नहीं मिलेगा. ये रंग अशुभ होते हैं और इनसे एक उदासी का माहोल आ जाता हैं.

2. करवाचौथ का व्रत रखने वाली महिला को इस दिन भूल से भी किसी को सफ़ेद चीज जैसे दूध, दही, चावल या सफ़ेद कपड़ा नहीं देनी चाहिए. ऐसा करने से पति की उम्र घटती हैं.

3. करवाचौथ वाले दिन महिलाओं को अपने से बड़ी उम्र की किसी भी महिला का अपमान नहीं करना चाहिए. वैसे तो ऐसा करना हमेशा ही गलत होता हैं लेकिन इस विशेष दिन उन्हें ना तो किसी वृद्ध महिला का अपमान करना चाहिए और ना ही किसी की चुगली करनी चाहिए. ऐसा करना अशुभ माना जाता हैं. इसलिए इस दिन अपने से बड़ी महिलाओं से आशीर्वाद ले

4. करवाचौथ करने वाली महिलाओं को चाँद देखने से पहले माँ गौरी की पूजा अवश्य करना चाहिए. पूजा अर्चना करने के बाद माँ को पुड़ी और हलवा का प्रसाद जरूर चढ़ाए.

5. सुई धागे और सेफ्टी पीन जैसी चीजों का प्रयोग करवाचौथ वाले दिन ना करे.

ध्यान रहे दोस्तों इस बार करवाचौथ पूजा का महूरत सिर्फ 1 घंटे 14 मिनट (6:03pm – 7:17pm) के लिए ही हैं इसलिए समय रहते पूजा कर ले.


Related posts

Leave a Comment